હાસ્યની તડાફડી

एक शवयात्रा में अर्थी के आगे एक कुत्ता चल
रहा था और उसके पीछे
सैकड़ों व्यक्तियों की लम्बी लाइन चल रही थी…
एक राहगीर ने हैरान होकर पूछा, “भाईसाहब,
अर्थी के आगे चलता हुआ कुत्ता बहुत अजीब लग
रहा है, यह किसकी अर्थी है…?
व्यक्ति ने जवाब दिया, “यह
मेरी पत्नी की अर्थी है, और मौत इस कुत्ते
के काटने से हुई है…
राहगीर ने तुरन्त कहा, “क्या आप एक दिन के लिए
अपना कुत्ता मुझे उधार देंगे…?
व्यक्ति बोला, “तुम्हें क्या लगता है, अर्थी के पीछे
चल रहे ये सैकड़ों लोग मेरी पत्नी के रिश्तेदार हैं…
ये सब भी कुत्ता लेने ही आए हैं… जाओ, तुम
भी लाइन में लग जाओ….

મોકલનાર વ્યક્તિ

Chirag Patel

Comments

comments


5,970 views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


3 + 1 =